IAS एक गरिमामय करियर : सुविधाएँ एवं वेतनमान

0
3347
IAS एक गरिमामय करियर : सुविधाएँ एवं वेतनमान

IAS एक गरिमामय करियर : सुविधाएँ एवं वेतनमान – भारतीय प्रशासनिक सेवा  (Indian Administrative Service) अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। इसके अधिकारी अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी है। भारतीय प्रशासनिक सेवा (तथा भारतीय पुलिस सेवा) में सीधी भर्ती संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से की जाती है तथा उनका आवंटन भारत सरकार द्वारा राज्यों को कर दिया जाता है।

आईएएस अधिकारी केंद्रीय सरकार, राज्य सरकारों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में रणनीतिक और महत्वपूर्ण पदों पर काम करते हैं। सरकार के वेस्टमिंस्टर प्रणाली के बाद दूसरे देशों की तरह, भारत में स्थायी नौकरशाही के रूप में आईएएस भारत सरकार के कार्यकारी का एक अविभाज्य अंग है, और इसलिए प्रशासन को तटस्थता और निरंतरता प्रदान करता है।

IAS एक गरिमामय करियर : सुविधाएँ एवं वेतनमान 

देश के सर्वोच्च सेवा आईएएस को कितनी सैलरी मिलती होगी, क्या-क्या सुविधाएँ मिलती हैं। यह एक कौतुहल का प्रश्न है। हर युवा इसे जानना चाहता है। नि:संदेह, इसके बारे में जानना भी चाहिए। क्योंकि आईएएस अधिकारी बनना आसान नहीं है। यह एक बड़े सपने के सच होने जैसा है। आखिर हो भी क्यों नहीं, किसी भी सरकारी नौकरी में भारतीय प्रशासनिक सेवा सर्वोच्च और सबसे प्रतिष्ठित नौकरी है। आईएएस का पद न केवल प्रतिष्ठा देता है बल्कि भरपूर रूतबे के साथ वेतन भी इस पदधारी को मिलता है। भारतीय संविधान एक आईएएस को पर्याप्त अधिकार के साथ शक्तियां तो प्रदान करता ही है।

उप-कलेक्टर/मजिस्ट्रेट के रूप में परिवीक्षा के बाद सेवा की पुष्टि करने पर, आईएएस अधिकारी को कुछ साल की सेवा के बाद जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टर के रूप में जिले में प्रशासनिक आदेश दिया जाता है, और आमतौर पर, कुछ राज्यों में सेवा के 16 साल की सेवा करने के बाद, एक आईएएस अधिकारी मंडलायुक्त के रूप में राज्य में एक पूरे मंडल का नेतृत्व करता है। सर्वोच्च पैमाने पर पहुंचने पर, आईएएस अधिकारी भारत सरकार के पूरे विभागों और मंत्रालयों का नेतृत्व करते हैं। आईएएस अधिकारी द्विपक्षीय और बहुपक्षीय वार्ता में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत सरकार का प्रतिनिधित्व करते हैं। प्रतिनियुक्ति पर, वे विश्व बैंक, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, एशियाई विकास बैंक और संयुक्त राष्ट्र या उसकी एजेंसियों जैसे अंतरसरकारी संगठनों में काम करते हैं। भारत के चुनाव आयोग की दिशा में भारत में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए प्रशासन के विभिन्न स्तरों पर आईएएस अधिकारी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

राज्य सरकार के कार्मिक विभाग द्वारा उक्त नियमावली के अनुसार सेवा संबंधी मामलों का क्रियान्वयन किया जाता है।पदोन्नति, अनुशासनिक कार्यवाही इत्यादि के सम्बन्ध में भारत सरकार द्वारा ही दिशानिर्देश तैयार की जाती है। इन मामलों पर कार्मिक विभाग द्वारा भारत सरकार को आख्या/रिपोर्ट भेजी जाती है। जिस पर भारत सरकार विचार कर राज्य सरकार (कार्मिक विभाग) को मामलों पर कार्यवाही करने का आदेश देती है। तत्पश्चात् कार्मिक विभाग द्वारा भारत सरकार के आदेशों को जारी कर कार्यवाही की जाती है।

IAS ऑफिसर को जिम्मेदारी के साथ-साथ अच्छा पारिश्रमिक और तमाम तरह की अन्य सुविधाएं मिलती है जिनसे आज आपका परिचय कराते हैं-

आवास 
तैनात होने वाले राज्य के राजधानी में वीवीआईपी प्रतिबंधित क्षेत्र में आईएएस अधिकारियों को एक डुप्लेक्स बंगला दिया जाता है। अन्य जिला/आयुक्त या मुख्यालय में पोस्टिंग होने के वावजूद भी निरपेक्ष रूप से उनके द्वारा यह लाभ प्राप्त किया जाता है।
सर्विस क्वार्टर
राज्य की राजधानी में आवास होने के आलावा जिस जिले या मुख्यालय में आईएएस अधिकारी की पोस्टिंग होती है, को सर्विस क्वार्टर भी प्रदान किया जाता है।
घरेलू स्टाफ
आईएएस अधिकारी को अधिकारिक आवास या सर्विस क्वार्टर के प्रतिदिन के कार्यों की देख रेख करने हेतु घरेलू स्टाफ प्रदान किया जाता है।
परिवहन
एक आईएएस अधिकारी को किसी प्रयोजन हेतु आवाजाही के लिए कम से कम 1 एवं अधिकतम 3 सरकारी वाहन चालक सहित आवंटित किये जाते हैं। पूर्व में सभी वाहन नीली प्रकाश बत्ती से लैस होती थी परन्तु अब बत्ती हटाने के प्रावधान के तहत इस व्यवस्था में परिवर्तन किया गया है। आईएएस अधिकारी को आवंटित किये गए वाहन के ईंधन एवं रखरखाव के मूल्य का वहन सरकार द्वारा किया जाता है।
सुरक्षा
आईएएस अधिकारी  एवं उनके परिवारों को कड़ी सुरक्षा प्रदान की जाती है। सामान्यतः राज्य मुख्यालय में नियुक्त आईएएस अधिकारी को 3 होम गार्ड एवं 2 बॉडीगार्ड आवंटित किये जाते हैं। उनके जीवन के लिए खतरा होने की स्थिति में उनकी सुरक्षा के लिए एसटीएफ कमांडो भी तैनात किया जा सकता है। जिला मजिस्ट्रेट/आयुक्त के पद पर तैनात आईएएस अधिकारी के लिए पूरा पुलिस बल उनके अंतर्गत होता है और वे जरुरत पड़ने पर अपनी सुरक्षा कवर अपने हिसाब से डिजाईन कर सकते हैं।
बिल
निजी उपक्रम के कर्मचारियों के विपरीत आईएएस अधिकारी को आम घरेलू सेवाओं के लिए भुगतान नही करना पड़ता है। उदाहरण के लिए उनके कार्यालयी आवास के लिए बिजली या तो पूरी तरह मुफ्त या बहुत ही अधिक सब्सिडी पर उपलब्ध कराया जाता है। इसी तरह उन्हें मुफ्त टॉक टाइम, एसएमएस और इंटरनेट सेवाओं के साथ 3 बीएसएनएल सिम कार्ड आवंटित किये जाते हैं। साथ ही साथ उनको मुफ्त बीएसएनएल लैंडलाइन कनेक्शन एवं एक ब्रॉडबैंड कनेक्शन उपलब्ध कराया जाता है।
यात्रा
अधिकारिक और अनाधिकारिक यात्राओं के लिए आईएएस अधिकारी सर्किट हाउस, सरकारी बंगले या अलग-अलग राज्यों के विश्राम गृहों में रियायती दरों पर आवास सुविधा का लाभ उठाते हैं। देश के राजधानी दिल्ली के किसी भी तरह के यात्रा पर आईएएस अधिकारी को सम्बंधित राज्य भवन में सभी सुविधाओं के साथ ठहरने की व्यवस्था होती है।
अध्ययन अवकाश
एक अन्य सुविधा का आनंद जो एक आईएएस अधिकारी उठाता है वह है 2 से 4 वर्ष का अध्ययन अवकाश। इसके अंतर्गत आईएएस अधिकारी किसी प्रतिष्ठित विदेशी विश्वविद्यालय में अध्ययन करने के लिए 4 साल का अवकाश ले सकते हैं, जिसके खर्च का वहन सरकार द्वारा किया जाता है।
अन्य सुविधाएं
आईएएस अधिकारी कई अन्य सुविधाओं का जैसे पीएफ, ग्रेच्युटी, स्वास्थ्य सेवाओं, जीवन भर पेंशन और कई अन्य सेवानिवृत्ति लाभ के रूप में आनन्द उठाते हैं।
अनाधिकारिक लाभ
इसके अलावा भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को जिला या उनके अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत आयोजित सभी प्रमुख कार्यक्रमों में आमंत्रित किया जाता है। जिसमें मुफ्त टिकट और क्रिकेट मैच के लिए पास, संगीत, पार्टियां एवं अन्य शामिल हैं।
यह तो कुछ एक प्रमुख भत्ते एवं सुविधाएं है जिनका आनंद भारत के आईएएस अधिकारियों द्वारा उठाया जाता है। यह पूरी तरह असंभव है कि एक आईएएस अधिकारी द्वारा उठाये जा रहे सभी सुविधाओं को सूचीबद्ध किया जा सके। उपरोक्त सूचीबद्द्ध सुविधाएं यह स्पष्ट रूप से साबित करती हैं कि क्यों भारत में आईएएस अधिकारी पद को करियर चुनाव में सबसे शीर्ष का पद माना जाता है।
वैतनिक लाभ 
अब आइयें हम आईएएस पद के वैतनिक लाभों को जान लेते हैं। आईएएस की मासिक प्रारंभिक परिलब्धियां तकरीबन एक लाख के आसपास होती हैं। यह अलग बात है इतनी शक्तियों और अधिकारों के बावजूद एक आईएएस को बहुराष्ट्रीय कंपनियों के मैनेजर की तुलना में कम सैलरी मिलती है। लेकिन अब सातवें वेतन आयोग के बाद एक आईएएस को मिलने वाली सैलरी में भारी बढ़ोतरी की जा रही है। प्रस्ताव है कि उन्हें इतना वेतन तो दिया ही जाए जो निजी क्षेत्र के मैनेजरों को मिलने वाले वेतन से अधिक हो। आइए जानते हैं नए वेतनमान के बाद एक आईएएस को कितनी सैलरी मिलेगी। वेतन के बारे में विस्तृत जानकारी इस टेबल से समझी जा सकती है-
   6ठा पे कमीशन वां पे कमीशन
ग्रेड   पे स्केल ग्रेड पे पे स्केल ग्रेड पे वांछित सेवा काल का वर्ष पद
जूनियर स्केल 15,600 – 39,100 5,400 50,000 – 1,50,000 16,500 NA सब डिविजनल मजिस्ट्रेट  (एसडीएम), एसडीओ या सब कलेक्टर (2 साल प्रोबेशन के बाद)
सीनियर टाइम स्केल 15,600 – 39,100 6,600 50,000 – 1,50,001 20,000 5 वर्ष डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (डीएम) या कलेक्टर या सरकारी मंत्रालयों का जॉइंट सेक्रेटरी
जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव

ग्रेड 

15,600 – 39,100 7,600 50,000 – 1,50,002 23,000 9 वर्ष स्पेशल सेक्रेटरी या विभिन्न सरकारी विभागों का प्रमुख
सेलेक्शन ग्रेड 37,400 – 67,000 8,700 1,00,000 – 2,00,000 26,000 12 – 15  वर्ष मंत्रालय का सचिव
सुपर टाइम स्केल 37,400 – 67,000 10,000 1,00,000 – 2,00,000 30,000 17 – 20 वर्ष किसी प्रमुख सरकारी विभाग का प्रमुख मुख्य सचिव
सुपर टाइम स्केल से उपर 37,400 – 67,000 12,000 1,00,000 – 2,00,000 30,000 अलग-अलग अलग-अलग
सर्वोच्च स्केल 80,000 (fixed) NA 2,40,000 (Fixed) NA अलग-अलग राज्य के प्रमुख सचिव, भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों का केंद्रीय सचिव
कैबिनेट सेक्रेटरी ग्रेड 90,000 (fixed) NA 2,70,000 (Fixed) NA अलग-अलग कैबिनेट सेक्रेटरी ऑफ इंडिया

IAS ऑफिसर को बहुत ही ज्यादा अधिकार दिए जाते हैं वह एक तरह से सरकार और जनता के बीच का बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है। कई सारे सरकारी कर्मचारी और अधिकारी किसी ना किसी IAS ऑफिसर के अंडर में काम करते हैं। उन सभी अधिकारियों को नियंत्रित IAS ऑफिसर ही करता है।  कई सारे कॉन्ट्रैक्ट को आईएएस ऑफिसर ही स्वीकृति प्रदान करते हैं। सरकार के विभिन्न विकास कार्यक्रम की देखरेख IAS ऑफिसर ही करता है। IAS ऑफिसर ही कई विकास कार्यक्रमों के लिए फंड स्वीकृति देता है। आईएएस ऑफिसर यह भी सुनिश्चित करता है कि उसके प्रभाव क्षेत्र में आने वाले विभिन्न सरकारी कर्मचारी और अधिकारी भ्रष्टाचार नहीं कर रहे हैं। IAS ऑफिसर को अपने अधीन विभिन्न कर्मचारियों पर अनुशासनात्मक कार्यवाही करने का अधिकार है। IAS ऑफिसर जहां कही भी जाता है सारे लोग उनके आगे पीछे करने लगते हैं, कॉन्ट्रैक्टर से लेकर बड़े-बड़े अधिकारी उनके आगे पीछे इसलिए करते रहते हैं क्योंकि उन्हें इस बात का डर लगता है कि कहीं यह IAS ऑफिसर उनके विरुद्ध कोई कार्यवाही ना कर दें या फिर उनका कोई काम ना रोक दें।  बड़े-बड़े नेता से लेकर गांव के मुखिया तक IAS ऑफिसर को जानते हैं उन्हें सम्मान देते हैं और उनके सम्पर्क में रहते हैं। सभी बड़े आयोजनों, फंक्शन और पार्टियों में IAS ऑफिसर को बुलाया जाता है और उन्हें सम्मान से स्वागत किया जाता है। आईएएस की सहमति से ही बड़े-बड़े कामों पर स्वीकृति मिलती है अगर IAS ऑफिसर चाहे तो कोई भी प्रोजेक्ट रुकवा सकता है अगर प्रोजेक्ट सही से नहीं चल रहा है तो।  गांवों और शहरों के जमीन के लेनदेन से लेकर जाति प्रमाण-पत्र बनवाने का काम भी IAS ऑफिसर के हस्ताक्षर से हो पाता है।

IAS ऑफिसर स्केल्स

  1. जूनियर स्केल्स (0-4 वर्ष)
  2. सीनियर स्केल्स (4-9 वर्ष)
  3. सीनियर टाइम स्केल (4 years+)
  4. जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड (9 years+)
  5. सिलेक्शन ग्रेड (13 years+)
  6. सुपर टाइम स्केल (16 year+)
  7. अबोव सुपर टाइम स्केल (25 years+)

इस तरह IAS ऑफिसर सचमुच में एक पावरफुल सरकारी अधिकारी है। IAS ऑफिसर बनने का सपना लाखो लोग हरेक साल पालते हैं लेकिन सफलता सिर्फ कुछ को ही मिल पाती है।

फ्री पैकेज : IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 : फ्री पैकेज  

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 : फ्री पैकेज को परीक्षा की तैयारी में जुटे अभ्यर्थियों के तैयारी स्तर को जांचने के लिए निर्मित किया गया है। यह फ्री पैकेज टेस्ट नवीनतम पाठ्यक्रम पर आधारित है और इस टेस्ट के प्रत्येक टेस्ट में 100 प्रश्न सम्मिलित किए गए हैं। यह मॉक टेस्ट सीरीज Online Tyari के मोबाइल एप्लीकेशन और वेबसाइट दोनों पर उपलब्ध हैं। इस टेस्ट सीरीज में सम्मिलित होकर आप अभी फ्री में अपने तैयारी स्तर को जान सकते हैं और आगामी परीक्षा के लिए खुद में आवश्यक परिवर्तन भी कर सकते हैं।

अभी अभ्यास शुरू करें !

8910_image_35_1507613365017.5

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 : अल्टीमेट पैकेज   

यह पैकेज IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 को ध्यान में रखकर संकलित किया गया है। यह पैकेज अभ्यर्थियों को उचित मार्गदर्शन प्रदान करता है तथा उनको प्रारंभिक परीक्षा के लिए रणनीत बनाने में सहायता प्रदान करता है तथा साथ ही साथ उनके आत्मविश्वास में वृद्धि भी करता है।

  •  इस पैकेज में कुल 40 टेस्ट हैं।
  • इस पैकेज में  विषय- विशेष (इतिहास , भूगोल, राजव्यवस्था, सामान्य विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी, अर्थशास्त्र तथा पर्यावरण एवं पारिस्थितकी), समसामयिकी, सामान्य ज्ञान पेपर -1 तथा CSAT पेपर -2  पर आधारित फुल लेंथ टेस्ट दिए गए हैं।
  •  CSAT के  पेपर के अलावा प्रत्येक टेस्ट में 100 प्रश्न हैं।
  • इस पैकेज में प्रत्येक प्रश्न का विश्लेषण सहित व्याख्यात्मक हल प्रदान किया गया है।
अभी अभ्यास शुरू करें !

IAS परीक्षा 2018 के बारे में और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। IAS परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

NO COMMENTS

Leave a Reply