IAS मुख्य परीक्षा के राजनीति विज्ञान से संबंधित संभावित प्रश्न

IAS मुख्य परीक्षा के राजनीति विज्ञान से संबंधित संभावित प्रश्न: प्रत्येक वर्ष लाखों उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के लिए उपस्थित होते हैं। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने हाल ही में, आगामी UPSC IAS मुख्य परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं। IAS मुख्य परीक्षा का आयोजन 28 अक्टूबर 2017 को किया जायेगा।

सभी UPSC IAS उम्मीदवार, इस समय IAS मुख्य परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम अपने आप को कितना अच्छा और जानकार समझते हैं या हम यह सोचते हैं कि अपने लिखित परीक्षा में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है, IAS परीक्षा में हमेशा एक अनिश्चितता बनी रहती है। यह वैकल्पिक विषयों के लिए विशेष रूप से सत्य है। इस लेख में, हम आपको IAS मुख्य परीक्षा के वैकल्पिक विषय राजनीति विज्ञान से संबंधित संभावित प्रश्नों से अवगत करायेंगे।

इस लेख के माध्यम से हम IAS मुख्य परीक्षा के राजनीति विज्ञान विषय के लिए कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों को सूचीबद्ध कर रहे हैं। उम्मीदवारों को यह सलाह दी जाती है कि वे आगामी IAS मुख्य परीक्षा के राजनीति विज्ञान विषय की प्रभावी रूप से तैयारी करने के लिए इन प्रश्नों को ध्यानपूर्वक देखें।

  1. “राष्ट्रवाद एक मात्र राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है, अपितु धर्म की तरह जीवन का एक तरीका है।” (अरविंद घोष)
  2. लॉस्लेट के कथन पर टिप्पणी कीजिये कि फिल्मर और नोट होब्स, लोके के प्रमुख प्रतिद्वंदी थे।
  3. “सहकारी संघवाद एक मजबूत केंद्रीय, या सामान्य सरकार उत्पन्न करता है, फिर भी इसके परिणामस्वरूप अनिवार्य रूप से कमजोर प्रांतीय सरकारें उत्पन्न नहीं होती है जो कि केंद्रीय नीतियों के लिए काफी हद तक प्रशासनिक एजेंसियां होती हैं। भारतीय महासंघ ने इसे सिद्ध किया है।” (ग्रानविले ऑस्टिन) ऊपर दिए गए कथन के संदर्भ में भारतीय संघवाद की विशिष्टता का परीक्षण कीजिये।
  4. समझाइए कि “एकल-पार्टी प्रभुत्व” (H.Morris-Jones) मॉडल की अवधारणा किस हद तक आज भारतीय नीति में उचित है।
  5. मौलिक अधिकारों के संबंध में अनुच्छेद 368 के विस्तार को समझने के लिए गोलकनाथ और केशवानंद भारती मामलों में प्रीसुम कोर्ट के निर्णय के महत्व की जाँच कीजिये।
  6. “समानता की ओर (1974), भारत में महिला आंदोलन के लिए” दस्तावेज के ऐतिहासिक महत्व को इंगित कीजिये और उस पर टिप्पणी कीजिये।
  7. 73वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम के विशेष संदर्भ में, पंचायती राज संस्थाओं की बदलती संरचना का परीक्षण कीजिये।
  8. सामाजिक आंदोलन का उदय, राजनीतिक प्रक्रिया में लोकप्रिय विस्तार की शुरुआत है या प्रतिनिधि राजनीति के पतन की प्रक्रिया है? परीक्षण कीजिये।
  9. ‘राष्ट्रीय हित गतिशील होते हैं’। समकालीन विश्व राजनीति में राष्ट्रीय हितों की गतिशील प्रकृति की उचित उदाहरणों सहित पहचान करें।
  10. ‘भारत के विदेशी व्यापार कीआर्थिक सामग्री तेजी से बढ़ रही हैं’।

पिछले एक दशक में भारत के आर्थिक राजनैतिक संबंधों के साथ ऊपर दिए गए कथन की पुष्टि कीजिये।

  1. ‘सामूहिक सुरक्षा और सामूहिक रक्षा, शक्तियों का वर्चस्व बनाए रखने के लिए संस्थागत और राज्य तंत्र हैं जो कि अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में होते हैं। इस पर प्रकाश डालिए।
  2. आधुनिक समाज में वैधता के रख-रखाव के लिए आवश्यक स्थितियों का परीक्षण कीजिये।
  3. मानवीय मामलों के लिए मैकियावेली के अनुभवजन्य विधि के अनुप्रयोग किस प्रकार से राजनीति विज्ञान के विकास में एक महत्वपूर्ण स्थिति को चिन्हित करते हैं।
  4. अरस्तू के राजनीतिक विचार, राजनीति में राजनीतिक संविधानों के विभिन्न प्रकारों के बारे में उनका वर्गीकरण किया है। मूल्यांकन कीजिये।
  5. अनुसूचित जाति से लेकर दलितों के खिलाफ हिंसा पर अंकुश लगाने के लिए राष्ट्रीय आयोग की कार्यप्रणाली पर चर्चा कीजिये।
  6. समझाइए कि भारतीय स्वतंत्रता के लिए संघर्ष के दौरान किसान आन्दोलनों ने किन राष्ट्रवादी विचारों को बढ़ावा दिया।
  7. भारत में चुनावी प्रक्रिया के सुधारों की प्रकृति पर चर्चा करें तथा सुधारों के लिए अग्रिम विस्तारों को समझाइए।
  8. धर्म की स्वतंत्रता का अधिकार के संवैधानिक संरक्षण के लिए क्या प्रावधान है तथा ये भारत में धर्मनिरपेक्षता को बढ़ावा देने में किस हद तक सफल रहे हैं?
  9. क्या आप सहमत हैं कि संयुक्त राष्ट्र, अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद को नियंत्रित करने में विफल रहा है? अपने उत्तर को उदाहरणों के साथ समझाइए।
  10. संपत्ति के समुदाय और परिवारों के समुदाय दोनों ही उन्हें सही मायने में संरक्षक बनाते हैं। (प्लेटो)
  11. तबसे कुछ पुरुष गुलाम हैं और यदि यह किसी के लिए लाभप्रद है, तो यह केवल उसे गुलाम बनाने के लिए है। (अरस्तु)
  12. “…. और पुरुषों तथा विशेष रूप से प्रधानों के कार्यों में, जहां से सह-अपील है, अंत अर्थ को सही ठहराते हैं।” ((MACHIAVBLLI)
  13. “एकमात्र स्वतंत्रता जो नाम की हकदार है, का अर्थ है अपने तरीके से अपनी भलाई प्राप्त करना” (जे. एस मिल)
  14. विश्व एक बेहतर स्थान हो सकता है यदि राष्ट्रीय संप्रभुता की अवधारणा को त्याग दिया जाये। अपने उतर के लिए उदाहरण दीजिये।
  15. एक लोकतांत्रिक राज्य में, राज्य का विरोध करने के अधिकार की आलोचना कीजिये।
  16. “स्वतंत्रता और समानता, दो ऐसी विरोधाभासी अवधारणायें हैं, जो की मानव के मन को समान रूप से प्रिय होती हैं।” टिप्पणी कीजिये।
  17. “लोकतंत्र का कोई सिद्धांत नहीं है; यह प्रतिस्पर्धी और परस्पर विरोधी हितों के मध्य एक सर्वश्रेष्ठ व्यावहारिक समझौता है।” स्पष्ट कीजिये।
  18. संरचनात्मक-कार्यात्मक दृष्टिकोण और मार्क्सवादी दृष्टिकोण का एक महत्वपूर्ण और तुलनात्मक आंकलन कीजिये।
  19. राजनीतिक समाजीकरण, राजनीतिक संस्कृति में शामिल होने की प्रक्रिया है।” स्पष्ट कीजिये और इस प्रक्रिया में आधुनिक राज्य द्वारा निभाई जाने वाली भूमिका के बारे में बताइए।
  20. भारतीय महासंघ एक भारी-केंद्रित है लेकिन राज्य मात्र प्रांत नहीं हैं।” टिप्पणी कीजिये।
  21. “भारतीय अधिकारी-वर्ग अभी भी अपने कार्यों, विचारों और व्यवहार में ब्रिटिश नीति दर्शाता है।” इस कथन को सिद्ध करें।
  22. “पिछले दशकों में, भारत की विदेश नीति का मुख्य उद्देश्य, एक ऐसे उपमहाद्वीप पर आंतरिक संतुलन का सृजन करना रहा है, जिसमें, भारत, एक प्रमुख शक्ति के रूप में, एक एकीकृत भूमिका अदा कर सकता है।” कथन की जाँच कीजिये।
  23. “चीनी आक्रमण (1962) के बाद, भारतीय विदेश नीति में कुछ सबसे महत्वपूर्ण परिवर्तन हुए। हालांकि, वे निरंतरता के समग्र तंत्र के भीतर हुए परिवर्तन थे।” स्पष्ट कीजिये।
  24. कापलान के विशेष संदर्भ में सिस्टम दृष्टिकोण की मुख्य विशेषताओं पर चर्चा कीजिये और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के विकास पर इसके प्रभाव की व्याख्या कीजिये।
  25. “राष्ट्रीय हित, विदेश नीति में महत्वपूर्ण अवधारणा है। संक्षेप में, यह सभी राष्ट्रीय मूल्य का कुल योग है” (Frankel) समझाइए।
  26. सत्ता और इसके संरक्षण पर लक्ष्यित नीतियों का संतुलन न केवल अपरिहार्य है अपितु संप्रभु राष्ट्रों के एक समाज में एक आवश्यक स्थिर कारक हैं। “(मोर्गेंथाऊ)। टिप्पणी कीजिये।
  27. अंतर्राष्ट्रीय कानून, अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में निस्संदेह एक नियामक और सीमित तंत्र के रूप में कार्य करते हैं लेकिन केवल एक अनिरंतर और आंशिक रूप से प्रभावी फैशन में – यह अधूरा प्रभाव, एक कानूनी प्रणाली के रूप में अंतर्राष्टीय कानून की कुछ प्रमुख विशेषताओं के कारण है।” कथन का परीक्षण कीजिये।
  28. “गुटनिरपेक्ष आंदोलन ने अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के प्रयासों और सिद्धांतों में आधारभूत योगदान दिया है तथा दोनों के स्वरुप में काफी हद तक परिवर्तन किया है।” इस पर चर्चा कीजिये।
  29. “हम मानते हैं कि एक सिद्धांत के रूप में, समाज के प्रत्येक सदस्य ने न्याय पर एक पवित्रता की स्थापना की है।” ( Rawls ) टिप्पणी कीजिये।
  30. विकास के गांधीवादी मॉडल का सूक्ष्म रूप से विश्लेषण कीजिये। यह विकास के नेहरूवादी मॉडल से किस प्रकार भिन्न है?
  31. “हरित क्रांति के लाभ के बावजूद, भारतीय कृषि पीछे है”। क्या आप इस कथन से सहमत हैं। अपने उत्तर के समर्थन में कारण दीजिए।
  32. भारत के संविधान के 73 वें और 74 वें संशोधनों की प्रमुख और सामान्य विशेषताओं पर प्रकाश डालिए। क्या आपको लगता है कि ये संशोधन, मूल रूप से लिंग और सामाजिक न्याय की प्राप्ति में योगदान करेंगे?
  33. “संसद के समकालीन समय में कमी आई है।” क्या आप इस कथन से सहमत हैं। अपने उत्तर के समर्थन में कारण दीजिए।
  34. भारतीय राजनीति में जाति और समुदाय के प्रभाव का परीक्षण कीजिये। क्या आप देश की राजनीति में उनकी निरंतर संबद्धता की उम्मीद करते हैं?
  35. यदि भारत, दक्षिण पूर्व एशिया के साथ एक और अधिक गंभीर रिश्ते को आगे बढ़ाये, तो क्या यह भारत के लिए लाभप्रद होगा? गंभीर रूप से इसका आंकलन कीजिये।
  36. वैश्विक अर्थव्यवस्था को लोकतांत्रिक बनाने की तत्काल आवश्यकता है। क्या आप इस विचार के साथ सहमत हैं? यदि हां, तो वैश्विक अर्थव्यवस्था को लोकतांत्रिक बनाने के लिए विभिन्न तरीकों पर चर्चा कीजिये।
  37. विकासशील देशों, विशेष रूप से, भारत के दृष्टिकोण से WTO की कार्य पद्धति में विवादास्पद मुद्दों की सूक्ष्म रूप से जांच कीजिये।
  38. विकासशील देशों ने उदारीकरण और वैश्वीकरण में, विकसित देशों के ट्रोजन हॉर्स के रूप में, एक आशंका जताई है। स्पष्ट कीजिये।
  39. “अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की कुछ एजेंसियां, ILO की अपेक्षा, मानव कल्याण के रखरखाव में अधिक सफल हैं। ऊपर दिए गए कथन के संदर्भ में ILO संस्था और इसके कार्यों पर चर्चा कीजिये।
  40. “समकालीन समय में भारत-अमेरिका संबंध आपसी विश्वास और सहयोग पर आधारित हैं” इस कथन के संदर्भ में, समकालीन समय में भारत-अमेरिका संबंधों की संभावनाओं का विश्लेषण कीजिये।
  41. रूस के साथ परमाणु समझौता, अब तक अमेरिका के साथ 123 समझौते की सीमा से परे है। टिप्पणी कीजिये।
  42. क्या आप सहमत हैं कि समकालीन समय में एक नया वैश्विक दक्षिण उभरा है। अपने उत्तर के समर्थन में कारण दीजिये। वैश्विक दक्षिण में भारत की स्थिति क्या हो सकती है?
  43. विश्व व्यापार संगठन की वार्ताओं में विकासशील देशों के हितों के एक रक्षक के रूप में भारत की भूमिका का विश्लेषण कीजिये।
  44. ‘भारत की परमाणु नीति का राष्ट्रीय हितों द्वारा मार्गदर्शन और राष्ट्रीय सर्वसम्मति द्वारा समर्थन किया गया है।” टिप्पणी कीजिये।
  45. रजनी कोठारी द्वारा स्पष्ट किये गए “कांग्रेस सिस्टम” की अवधारणों को समझाइए। क्या हम यह कह सकते हैं कि भारतीय राजनीति को समझाने के लिए यह अब एक प्रासंगिक मॉडल नहीं रहा है?
  46. “राज्य की सापेक्ष स्वायत्तता” से आप क्या समझते हैं? इस संबंध में PoulantzasMiliband की डिबेट के बारे में एक संक्षिप्त विचार प्रस्तुत कीजिये।
  47. भारग्रस्त आत्म की धारणा, उदारवाद की सामुदायिक आलोचना का निर्णायक पहलू है। समझाइए।
  48. मार्क्स, हेगेल में उल्टा परिवर्तित हो जाता है। इस आधार पर टिप्पणी कीजिये कि मार्क्स ने हेगेल से क्या हड़पा है और मार्क्स और हेगेल के मध्य क्या मतभेद हैं?
  49. वर्तमान समय में राजनीतिक सिद्धांतों को किन चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है? इससे उभरने के लिए सुझाव दीजिये।
  50. वर्तमान समय में राजनीतिक सिद्धांतों को किन चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है? इससे उभरने के लिए सुझाव दीजिये।

इन महत्वपूर्ण प्रश्नों के द्वारा IAS मुख्य परीक्षा के वैकल्पिक विषय राजनीति विज्ञान की तैयारी कीजिये। यहां हम अपने इस लेख को समाप्त करते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि ये प्रश्न सभी प्रकार से आपकी सहायता करेंगे।

UPSC सिविल सेवा भर्ती परीक्षा 2017 के संबंध में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़े रहें। सिविल सेवा परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.